Shree Durga Chalisa

श्री दुर्गा चालिसा दुर्गा दुर्गतिहारिणी भवतु नो रत्नोल्लसत्कुडला ।. ध्यानार्थे अक्षतपुष्पाणि समर्पयामि ऊँ श्री दुर्गायै नमै: ॥. नमो नमो दुर्गे सुख करनी । नमो नमो अम्बे दुःख हरनी ।।. निरंकार है ज्योति तुम्हारी । तिहूँ लोक फ़ैली उजियारी ।।. शशी ललाट मुख महा विशाला । नेत्र लाल भृकुटी विकराला ।।. रुप मातु को अधिक सुहावे…


Shree Laxmi Chalisa

Shree Laxmi Chalisa | श्री लक्ष्मी चालीसा. दोहा मातु लक्ष्मी करि कृपा, करो हृदय में वास।. मनोकामना सिद्ध करि, पुरवहुं मेरी आस।।. सोरठा यही मोर अरदास, हाथ जोड़ विनती करूं।. सबविधि करौ सुवास, जय जननि जगदंबिका।. चौपाई सिन्धु सुता मैं सुमिरों तोही, ज्ञान बुद्धि विद्या दे मोही।. तुम समान नहीं कोई उपकारी, सब विधि पुरवहुं…